पंजाबियों को लग्जरी फ्लैट्स देने वाले उद्योगपति पर लगाए पीड़ित महिला ने शारीरिक शोषण के आरोप

वर्षों तक चलता रहा औरतजात की गरीबी और मजबूरी का शोषण,पीड़ित महिला ने और भी किए बड़े खुलासे

by Vijay Atwal
Social Share

जालंधर / ( विजय अटवाल ) : वनिता विशाल पत्नी रोहित पुत्री जोगिंदर सिंह निवासी बी-1727 राम नगर, जालंधर ने सुखदेव सिंह प्रबंध निदेशक AGI, हरिंदर सिंह परियोजना निदेशक AGI व कैशियर जतिंदर कुमार पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। उसने कहा कि वह पिछले 10 वर्षों (2014 से 2023) तक फ्रंट डेस्क ऑफिसर के रूप में उनके साथ कार्यरत थी। मेरे भाई सूरज, बहन रुबिया और मेरे पति रोहित भी पिछले कई वर्षों से इसी फर्म में कार्यरत थे। उसने आरोप लगाया कि वर्ष 2014 से सुखदेव सिंह और वरिंदर सिंह ने मुझे अपनी उक्त फर्म में नौकरी देने के बाद मेरी गरीबी के कारण जबरन मेरा अनुचित फायदा उठाया।

सबसे पहले वीरेंद्र सिंह ने मेरा शारीरिक शोषण किया और मेरे साथ जबरन संबंध बनाता रहा। लेकिन में अपनी बदनामी के डर से उक्त लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकी।क्योंकि उक्त लोगों की काफी पहुंच है। वनिता ने आरोप लगाया कि वरिंदर सिंह व सुखदेव सिंह मुझे विभिन्न होटलों में ले जाते रहे और मेरी सहमति के बिना मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाते रहे। शारीरिक शोषण के बाद मुझे धमकी देते थे कि अगर मैंने किसी को कुछ भी बताया या उनके खिलाफ जाने की कोशिश की तो वे मुझे बहुत नुकसान पहुंचाएंगे।

उसने बताया कि वरिंदर सिंह और सुखदेव सिंह ने मुझे 2018 में जालंधर हाइट्स 1 में एक फ्लैट नंबर 209 एस. रहने के लिए दिया और फ्लैट नंबर 208 एस में भी उक्त वरिंदर सिंह, सुखदेव सिंह और जतिंदर कुमार विज ने अपने रिकॉर्ड को स्टोर रूम के रूप में इस्तेमाल किया। जतिंदर कुमार विज को सब पता था कि वीरेंद्र सिंह और सुखदेव सिंह मेरे साथ शारीरिक संबंध बना रहे हैं। मेरा शारीरिक शोषण कर रहे हैं और वह कई बार मेरे निजी अंगों को भी छूते थे और मेरा मजाक उड़ाते थे।

कहते थे कि हमने तुम्हें मनोरंजन के लिए रखा है। तुम्हारे पास कोई और मौका नहीं है। उक्त व्यक्तियों के प्रतिदिन के शारीरिक शोषण एवं उत्पीड़न से मैं अपने जीवन से बहुत दुखी थी तथा कभी-कभी तो मरने के बारे में भी सोचती थी। तब उक्त फर्म में मेरे कार्यालय में कार्यरत रोहित ने मेरी दुर्दशा को समझा और मुझे बेहतर जीवन देने में मेरी मदद की। अब उक्त लोग मुझे, मेरे पति, मेरे भाई और बहन को भी नौकरी से निकाल दिया।

मेरे पति को दस लाख रुपये फ्रेंडली लोन दिया था। बाद में उसे भी झूठे केस में फंसा दिया। वनिता ने बताया कि उसने इसकी शिकायत महिला आयोग को भी की हुई है। दोनों पति-पत्नी ने कहा कि यदि उनको कुछ भी हुआ तो इसका जिम्मेदारAGI का मालिक सुखदेव सिंह और उसके साथी होंगे।दोपहर 3 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस मैं पीड़ित लड़की द्वारा शारीरिक शोषण के आरोप लगाने के बाद शेयर प्राइस बाद दोपहर को मार्केट बंद होने तक AGI के शेयर के भाव गिरे। और आने वाले दिनों में भी निवेशकों को भारी नुकसान हो सकता है।

इस संबंध में जब AGI के मालिक सुखदेव सिंह से बात हुई तो उन्होंने कहा यह सब आरोप निराधार है।


Social Share


Smiley face
Smiley face
Smiley face


देश की ताजा खबरें पढ़ने के लिए हमारे WhatsApp Group को Join करें
WhatsApp Group Link

You may also like

Leave a Comment

Daily Khabar TV,  A Media Company – All Right Reserved. Designed and Developed by iTree Network Solutions +91-86992-35413.